JBL Tune_Image Source Google

Quran Ki Ayat Kab Utarna Shuru Hui ? क़ुरआन मजीद का सन्देश कब उतरना शुरू हुआ ?

JBL Tune_Image Source Google

Quran Ki Ayat Kab Utarna Shuru Hui ? क़ुरआन मजीद का सन्देश कब उतरना शुरू हुआ ? क़ुरान में पूरे 114 चैपटर हैं,जिन्हे सूरा कहा जाता हैं .बहुत से लोग उसको क़ुरान की सूरत भी कहते हैं .हज़रत सिद्दीक़्क़ी अकबर (रज़ि.) क़ुरान को इकठ्ठा करके क़ुरान की 9 कॉपी बनवायी थी और कुछ देशो में भेजी थी.

जिसमे क़ुरान की 2 कॉपी आज भी पूर्ण रूप से वैसी ही हैं जैसी हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) ने खुद बयां की हैं .500 साल से ज्यादा पुरानी ये दो कॉपी ताशकंद और तुर्की में हैं.क़ुरान की खासियत ये हैं की हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) के समय से अब तक इस किताब में एक मात्रा का भी अंतर नहीं आया हैं.

Quran Ki Ayat Kab Utarna Shuru Hui ? क़ुरआन मजीद का सन्देश कब उतरना शुरू हुआ ?

क़ुरआन मजीद का सन्देश क़द्र की रात जिसे शबे-क़द्र भी कहा जाता हैं उस रात को उतरना शुरू हुआ,शबे-क़द्र को लैलतुल क़द्र भी कहा जाता हैं

क़ुरान की इन सूरा को तो भागो में बांटा गया हैं-एक मक्की सूरा और एक मदनी सूरा

जब हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) मक्का में थे तो,क़ुरान की कुछ आयते मक्का शहर में नाज़िल हुई.इन आयतों को मक्की आयते और जब हज़रत मुहम्मद (सल्ल.) मदीना में थे तो,मदीना शरीफ में उतरी आयतों को मदनी आयते कहा गया. हर सूरा में कई सन्देश होते हैं,उन्ही संदेशो को आयत कहा गया हैं.क़ुरान की हर सूरा बिस्मिल्लाह के नाम से शुरू होती हैं सिर्फ 9वी सूरा को छोड़ कर. बिस्मिल्लाह अरबी शब्द हैं यदि इसको हिंदी में समझे तो बिस्मिल्लाह के अर्थ अल्लाह के नाम पर होता हैं.

Quran Ki Ayat Kab Utarna Shuru Hui ? क़ुरआन मजीद का सन्देश कब उतरना शुरू हुआ ?

क़ुरान का सन्देश बुनियादी इस्लामी मान्यताओं से संबंधित है,जिसमे अल्लाह और लोगो के बारे में बताया गया हैं.अल्लाह ने क़ुरान में क्या हो चूका हैं और क्या होने वाला हैं, इसके साथ-साथ किसी भी इंसान के अधिकारों,न्याय के बारे में पूरी जानकारी दी गयी हैं,साथ ही किसी भी मुस्लमान को कैसे इबादत करनी चाहिए और क्या क्या कर्म करने चाहिए ये पूरी हिदायत अल्लाह ने क़ुरान में दी हैं.

Safe Shop Plan 7 Secret Tips For Safe Online Shopping

Islamic Status On Messengers Of God A Prophet Sent From God

JBL Tune_Image Source Google
%d bloggers like this: